क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन को कर्नाटक के हुबली में होने वाले अंतर क्षेत्रीय टूर्नामेंट के लिए पश्चिम क्षेत्र की अंडर-16 टीम में शामिल किया गया है। वही मुंबई में एक पारी में 1000 रन ठोकने वाले ऑटो ड्राईवर के बेटे प्रणव धनावड़े का टीम में चयन नहीं हो पाया है। प्रणव ने जनवरी में स्कूली क्रिकेट में 1009 रन की पारी खेलकर कर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

और पढ़े -   हर्लेडेविडसन पर गाय के चमड़े से बने सामान बेचने का आरोप लगाने वाले एजाज खान को प्रधानमंत्री कार्यालय से मिला जवाब

गौरतलब है कि चयन समिति में सचिन तेंदुलकर के करीबी समीर दीघे भी थे। अर्जुन के चयन पर सवाल उठने लगे हैं कि उसके स्थान पर प्रणव धनावड़े का चयन क्यों नहीं किया गया.  प्रणव को न चुने जाने से सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है. प्रणव धनावड़े को सचिन तेंदुलकर से लेकर महेंद्र सिंह धोनी, हरभजन सिंह, दिलीप वेंगसरकर और अजित वाडेकर के अलावा काफी लोगो ने बधाई दी थी। सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं कि वल्र्ड रिकॉर्ड होल्डर प्रणव एक स्टार किड अर्जुन से हार गया. प्रणव के पिता एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर हैं.

और पढ़े -   अक्षय कुमार पर मेहरबान हुई बीजेपी, ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ को किया टैक्स फ्री

गोरतलब रहें कि नार्थ जोन के खिलाफ खेले गए मैच में अर्जुन का प्रदर्शन खराब रहा है. पहली पारी में अर्जुन ‘जीरो’पर बोल्ड हो गए. जबकि 12 ओवर में 52 रन देकर सिर्फ एक ही विकेट ले सके. दूसरी पारी में भी स्कोर में कोई योगदान नहीं दे सके थे इसके बाबजूद भी उन्हें टीम में शामिल किया गया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE