नई दिल्लीदिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान और शाहरूख खान को क्लीन चिट दे दी है। दिल्ली पुलिस ने क्लीन चिट देते हुए एक स्थानीय अदालत को बताया कि दोनों अभिनेता ‘बिग बॉस-9’ के लिए एक स्टूडियो के सेट के हिस्से के तौर पर बनाए गए एक अस्थाई मंदिर में शूटिंग कर रहे थे। दिल्ली पुलिस ने माना कि उनकी मंशा धार्मिक भावनाएं आहत करने की नहीं थी

मंदिर के सेट पर शूटिंग मामले में सलमान, शाहरूख को दिल्ली पुलिस से  क्लीन चिट

पुलिस ने अपनी कार्रवाई रिपोर्ट में कहा कि जूते पहनकर एक मंदिर के सेट में प्रवेश का दृश्य रियेलिटी शो के लिए स्टूडियो में फिल्माया गया था। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट (एसीएमएम) वी के गौतम की अदालत में दाखिल कार्रवाई रिपोर्ट (एटीआर) में पुलिस ने कहा है कि प्रमोशनल शूट एक धार्मिक स्थल की पवित्रता या धार्मिक भावनाओं को आहत करने के मकसद से नहीं किया गया था।

पुलिस ने कहा कि तथ्यों और रिपोर्ट के मद्देनजर कोई संज्ञेय अपराध नहीं बनता। प्रमोशनल शूट किसी व्यक्ति, समूह, समुदाय या समाज के किसी हिस्से या एक धार्मिक स्थल की पवित्रता या धार्मिक भावनाओं को आहत करने के मकसद से नहीं किया गया था। रूप नगर पुलिस स्टेशन के एसएचओ द्वारा अग्रेसित और सब इंस्पेक्टर नवीन कुमार द्वारा दाखिल रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि, अधोहस्ताक्षरित अदालत द्वारा पास किए जाने वाले किसी भी आदेश की अनुपालना के लिए तैयार है। एसीएमएम अवकाश पर थे और लिंक मजिस्ट्रेट जोगिन्दर सिंह ने मामले को जिरह के लिए दो मार्च को सूचीबद्ध कर दिया।

अदालत ने इससे पूर्व पुलिस को इन तथ्यों के साथ एटीआर दाखिल करने को कहा था कि अधिवक्ता गौरव गुलाटी द्वारा दाखिल की गई शिकायत पर क्या कार्रवाई की गई है। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया कि इसी प्रकार की शिकायत मेरठ की अदालत में दाखिल की गई थी जो इसे पहले ही खारिज कर चुकी है।

पुलिस ने ‘वायकाम 18’ के चैनल प्रोड्यूसर के जवाब का भी जिक्र किया जिसमें कहा गया है कि शाहरुख खान ‘बिग बास-9’ के सेट पर आए थे और सलमान खान से मिले थे जिनके साथ उन्होंने बॉलीवुड फिल्म ‘करण अर्जुन’ में काफी समय पहले एक साथ काम किया था।

अभिनेता काफी लंबे समय बाद मिले थे तो निदेशक ने सोचा कि उन्हें ‘काली मंदिर’ के सेट पर उसी तरह मिलते हुए दिखाया जाए जैसे वे करण अर्जुन फिल्म में काली मंदिर में मिले थे। यह आइडिया किसी धार्मिक समूह की धार्मिक भावनाओं को आहत करने की मंशा से नहीं था और प्रोमो की शूटिंग एक स्टूडियो में की गई थी और जो बात कही गई है वह कभी नहीं हुई। पुलिस ने चैनल के जवाब का हवाला देते हुए यह बात कही। (ibnlive)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें