Aamir Khan dismissed the appeal of treason trial

बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान ने एक्टर और एक्ट्रेस को मिलने वाली कमाई को लेकर कहा कि हिंदी सिनेमा में मिलने वाले मेहनताने में लिंग आधारित अंतर को खत्म करने का समय आ गया है.

उन्होंने कहा कि परिश्रामिक में कोई लिंगभेद नहीं होना चाहिए. यह कहीं से तार्किक नहीं कि परिश्रामिक को लेकर किसी प्रकार का भेदभाव किया जाए. उन्होंने कहा कि हिंदी सिनेमा में परिश्रामिक में लिंग आधारित अंतर को खत्म करने का समय आ गया है. समय-समय पर कई कलाकार अभिनेताओं और अभिनेत्रियों के मानदेय में भारी अंतर के बारे बात करते रहे हैं.

आमिर ने कहा, ‘‘मानदेय व्यक्ति के लिंग पर निर्भर नहीं होना चाहिए. यह समान होना चाहिए. पुरुषवादी सोच में बदलाव होना चाहिए.’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें