बॉलिवुड ऐक्टर आमिर खान ने महाराष्ट्र में जल संरक्षण और सूखा राहत कार्यक्रम के लिए फडणवीस सरकार से गठजोड़ किया है। आमिर इस योजना में ब्रैंड ऐंबैसडर नहीं, बल्कि कम्यूनिकेटर (सूचना देने वाले) के तौर पर काम करेंगे। लोगों में पानी के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए आमिर ने ‘पानी फाउंडेशन’ नामक संस्था का गठन किया है, जो ग्रामीण क्षेत्रों में पानी बचाने के प्रचार-प्रसार में काम करेगी।

पहले चरण में संस्था पानी बचाओ को बढ़ावा देने वाले गांव को ‘सत्यमेव जयते वॉटर कप’ पुरस्कार देगी। पहला पुरस्कार 50 लाख रुपये, दूसरा 30 लाख रुपये और तीसरा पुरस्कार 20 लाख रुपये का होगा। पुरस्कार के लिए आवेदन करने वाले गांव के पांच लोगों को संस्था प्रशिक्षण भी देगी। पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर संस्था ने पुरस्कार के लिए तीन तहसीलों का चयन किया है।

बुधवार को स्टेट गेस्ट हाउस ‘सह्याद्रि’ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, पंकजा मुंडे, आमिर खान, राजकुमार हिरानी, उद्योगपति कुमारमंगलम बिड़ला, सत्यजीत भाटकर, राजीव बजाज और अमित कल्याणी मौजूद थे। इस मौके पर मुकेश अंबानी और सचिन तेंडुलकर के विडियो संदेश दिखाए गए। उन्होंने ‘पानी फाउंडेशन’ को समर्थन दिया है। ‘पानी फाउंडेशन’ सलाहकार बोर्ड में रतन टाटा, नीता अंबानी और दीपक पारेख जैसी हस्तियों को लिया गया है। इस मौके पर आमिर ने कहा कि वह पानी के प्रचार-प्रसार में काम करेंगे। सरकार की इस योजना को लोगों के बीच लेकर जाएंगे। पानी बचाओ या फिर पानी की समस्या को लेकर जो भी संस्थाएं काम कर रही हैं, वह उनके साथ हैं। इस योजना के लिए आमिर ने 50 लाख रुपये दिए हैं।

आमिर खान जलयुक्त शिवार योजना के ब्रैंड ऐंबैसडर नहीं बनना चाहते थे। उन्होंने पहली मुलाकात में ही यह साफ कर दिया था। वह जमीनी स्तर पर काम करना चाहते हैं। – देवेंद्र फडणवीस, मुख्यमंत्री महाराष्ट्र

मैं इस योजना का सिर्फ एक चेहरा हूं। मेरा प्रयास इस काम में अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों को जोड़कर पानी बचाने के लिए लोगों में जागरुकता पैदा करना है।
– आमिर खान। (नवभारत टाइम्स)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें