amitabh-bachchan_625x300_61411370423

सुप्रीम कोर्ट ने अमिताभ बच्चन को 15 साल पुराने इनकम टैक्स के मामले में झटका देते हुवे केस को रेओपेन करने की इजाजत दे दी हैं. मामला 2001 के कौन बनेगा करोड़पति से जुड़ी कमाई पर 1.66 करोड़ रुपए बकाया टैक्स का है. आईटी विभाग के अनुसार, 2001-02 के असेसमेंट ईयर में अमिताभ ने अपनी टैक्सेबल इनकम 3.23 करोड़ रुपए दिखाई थी,

जबकि असेसिंग ऑफिसर के मुताबिक, अमिताभ ने टीवी शो केबीसी के जरिये उस साल 26 करोड़ रुपए की कमाई की थी. अमिताभ को टैक्स नोटिस देने के असेसमेंट ऑफिसर के ऑर्डर को इनकम टैक्स कमिश्नर ने बरकरार रखा था. लेकिन इनकम टैक्स अपीलिएट ट्रिब्यूनल ने इस ऑर्डर को खारिज कर दिया था.

इसके बाद ट्रिब्यूनल के ऑर्डर के खिलाफ इनकम टैक्स विभाग ने बांबे हाइ कोर्ट में अपील की. लेकिन हाई कोर्ट ने अपील को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि बच्चन को 30 प्रतिशत की टैक्स छूट दी जा सकती है. विभाग का कहना है कि अमिताभ इस शो के एंकर थे, इसलिए उन्हें इस शो का आर्टिस्ट नहीं कहा जा सकता.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें