‘उड़ता पंजाब’ पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए साफ कहा कि फिल्म को 48 घंटे के भीतर सार्टिफिकेट दिया जाए। कोर्ट ने अपने फैसले में दो टूक शब्दों में कहा कि फिल्म में देश या राज्य के खि‍लाफ कुछ भी नहीं है और न ही यह फिल्म ड्रग्स का महिमामंडन करती है।

हाई कोर्ट ने सेंसर बोर्ड को फटकार लगाते हुए सेंसर बोर्ड द्वारा जिन 13 कट्स की बात कही थी, उनमें से केवल एक दृश्य को हटाने का आदेश देते हुए कहा कि फिल्म की स्क्रिप्ट और नाम में ऐसा कुछ भी नहीं है कि देश की एकता या संप्रभुता को चोट पहुंचे।

उड़ता पंजाब’ के डायरेक्टर का कहना है कि हाईकोर्ट का फैसला हमारी जीत है। उधर, उनके अधिवक्ता ने भी कहा कि हमारी याचिका को मंजूर कर कोर्ट ने साफ संदेश दे दिया है।कोर्ट ने ‘उड़ता पंजाब’ के डायरेक्टर को तीन डिस्क्लेमर के साथ मंजूरी दी है। बता दें कि फिल्म इसी शुक्रवार यानी 17 जून को रिलीज होनी है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें