17 C
New Delhi,India
Monday, January 16, 2017
Home पाठको के लेख

पाठको के लेख

Muslim Womens Body Slams Jamiat On Personal Law Stand
कोहराम न्यूज़ के लिए वसीम अकरम त्यागी का लेख Published - 2 Feb 16 - Republished 24 April 16 World Hizab Day, हिंदी में कहें तो इसका अनुवाद विश्व पर्दा दिवस होता है। अब से पहले यह दिवस कभी नहीं सुना मगर इस बार फेसबुक पर देखने को मिल रहा है...
आदरणीय ठाकुर राजनाथ सिंह गृह मंत्री, भारत सरकार कल टेलीविजन पर आपको बोलते हुऐ देखा तो मुझे यकीन हुआ कि आप बोलते भी हैं, यह यकीन शब्द इसलिये प्रयोग कर रहा हूं क्योंकि बीते ढ़ाई साल में आप बमुश्किल ढ़ाई दर्जन बार ही बोल पाये होंगे। खैर आप को टीवी के...
हमने नरेन्दर दाभोलकर, कुलबर्गी, और पंसारे को मारा है, उन्होंने अमजद साबरी को मार गिराया हिसाब बराबर कट्टरवाद के मामले में हम पाकिस्तान से बिल्कुल अलग नहीं हैं। पाकिस्तान जैसा है उसके हालात से दुनिया वाकिफ है मगर हम पाकिस्तान नहीं बनना चाहते। पाकिस्तान में धर्मांधता के नाम पर...
should-pragya-thakur-too-be-gunned-down-like-ishrat-jehan
इशरत जहां आतंकी थी या नहीं ये अब मुद्दा है ही नहीं। आपने उसे मार डाला... उसके पास हथियार मिल गए... आपका केस क़ानूनन सही हो गया (कैसे, क्यों, किसलिए जैसी बातें बेमायने हो गईं)...आप सच्चे, बाक़ी सब झूठे... मामला ख़त्म। असल मुद्दा ये है कि क्या वो कोर्ट...
निर्भया केस के एक दोषी की पहचान के साथ हिंदुत्व के स्वयंभू ठेकेदार और स्वघोषित मोदीभक्त छेड़छाड़ कर रहे हैं। छेड़छाड़ भी ऐसी जो इस मामले की संवेदनशीलता और इस घटना से जुड़ी लोगों की भावनाओं से भद्दा खेल खेलती है। आज हम उस पोस्ट का सच बताएंगे जिसका...
नई दिल्ली। रेलवे के पुनर्गठन के रास्ते तलाशने के लिए बिबेक देबरॉय की अध्यक्षता में बनाए गए पैनल ने कई सुझाव दिए हैं। पैनल का कहना है रेलवे की हालत सुधारने के लिए बड़े पैमाने पर उदारीकरण करने की आवश्यकता है। पैनल ने सिफारिश की है कि प्राइवेट कंपनियों को...
पहले अरुणाचल प्रदेश, फिर उत्तराखंड और अब शायद हिमाचल प्रदेश और मणिपुर. इन प्रदेशों में राजनीतिक संकट पैदा होने के बाद ऐसा लग रहा है, जैसे ‘कांग्रेस मुक्त’ करने का BJP का कोई अभियान चल रहा हो. हालांकि इस बात को पुख्ता तरीके से साबित करने के लिए ठोस...
Republished 5 Dec 2016  23 बरस बाद बाबरी अविनाश कुमार पांडे ‘समर’ बाबरी कभी एक मस्जिद का नाम होता था, अब इस देश के सीने में पैबस्त खंजर का नाम है. वो खंजर जिसे लेकर एक पूरी पीढ़ी जवान हो गयी. वो जिसने बाबरी को बस तस्वीरों में देखा है,...
आज तमाम दुनिया देहश्तगर्दी पर अपने आंसू बहा रही है । कोई किसी मज़हब को उसका ज़िम्मेदार मान रहा है और कोई दूसरे पर इलज़ाम साज़ी कर रहा है । आज के दौर में जो मुसलमानो के मुल्को का हाल है उससे कोई बेख़बर नहीं है ,सब जानते है...
अखबारों का स्तर रसातल में पहुंच गया है किसी भी अखबार को उठाकर देख लीजिये सभी का शीर्षक लगभग एक जैसा है कि जेल से भागे सिमी के आतंकी मुठभेड़ में ढ़ेर वगैरा वगैरा। सभी अखबारों ने इस खबर को प्रथम पृष्ठ पर स्थान दिया है इसे लीड न्यूज...

फेसबुक पर लाइक करें

ताज़ा समाचार

सप्ताह की प्रमुख खबरें

loading...
error: Contents of Kohraam.com are copyright protected.