35 C
New Delhi,India
Saturday, June 24, 2017
Home पाठको के लेख

पाठको के लेख

मैं उस शख्स का बहुत अहसानमंद हूं जिसके दिमाग में सबसे पहले डिक्शनरी बनाने का खयाल आया। डिक्शनरी सिर्फ दो ज़बानों को ही नहीं जोड़ती, यह दो दिलों और देशों को भी जोड़ती है। मैं इस मामले में बहुत खुशनसीब रहा कि मुझे इनाम में डिक्शनरी बहुत मिलीं। इतनी...
सऊदी अरब के शाह सलमान ने युवराज अब्दुल्ला बिन फैसल बिन तुर्की को अमेरिकी राजदूत के पद से हटा कर अब  युवराज खालिद बिन सलमान बिन अब्दुलअजीज को नया राजदूत नियुक्त किया हैं. इस बारें में शाह सलमान ने आदेश जारी कर दिया हैं. वहीँ वाशिंगटन में सऊदी दूतावास की एक वेबसाइट में...
आजादी के बाद पिछले करीब सात दशकों के दौरान देश का विकास तो काफी हुआ है लेकिन इसमें सभी तबकों, समूहों की समुचित भागीदारी नही हो सकी है. देश के सबसे बड़े अल्पसंख्यक समूह मुसलिम समुदाय की दोहरी त्रासदी यह रही कि वह एक तरफ तो विकास की प्रक्रिया...
नेक बनने और अपनी ख़ामियाँ पहचानने का तरीक़ा -इमाम मोहम्मद ग़ज़ाली अ़लैहिर्रहमा हुज़ूर सल्लल्लाहु तअ़ाला अ़लैहि वसल्लम का फ़रमान हैः जब अल्लाह तअ़ाला किसी बंदे के साथ भलाई का इरादा फ़रमाता है तो उसे उस के एैब दिखा देता है। (शोअ़बुल ईमान बैहक़ी, हदीस १०५३५) अपने एैब पहचानने के तरीक़ों में...
1857 का साल चाहकर भी हम भुला नहीं सकते। अगर भूलना भी चाहा तो कई नाम हैं, जो हमें उस दौर की याद दिलाते रहेंगे। मगर जैसे-जैसे वक्त गुजरता जा रहा है, यह साल मुझे एक ऐसी खिड़की की तरह नजर आता है, जो खुली है और खामोश भी।...
sonu-nigam-banned-azan
सोनू निगम देश के जाने माने प्लेबैक सिंगर है. उनके गाये कुछ गाने बहुत प्रसिद्ध हुए है जैसे सुभाष घई की फिल्म परदेस के लिए गाया गाना 'ये दिल, दीवाना', या फिर कल हो ना हो का टाइटल ट्रैक या फिर फिल्म अग्निपथ का अभी मुझमे कहीं बाकी थोड़ी...
मुझे आज भी वे दिन बहुत याद आते हैं जब गर्मियों की छुट्टियां होतीं और हम ननिहाल जाते। मेरा ननिहाल दोरासर राजस्थान के झुंझुनूं जिले में है। वो भी क्या दिन थे! हम दिनभर बहुत उधम मचाते। जब शाम होती तो नानाजी की अंगुली पकड़कर खेतों में जाते। मेरे...
hindu-muslim unity
लोग मज़हब को लेकर बड़ी बड़ी बातें करते हैं। इतनी बड़ी बड़ी बातें कि हम जैसे छोटे-छोटे लोग इन्हें हज़म नहीं कर पाते। लोग दूसरे मज़हबों पर तब्सरे करने में लगे हैं लेकिन ये महज़ फसाद फैलाना है। जब आपने दूसरों के अक़ीदे पढ़े ही नहीं तो फिर उनपर...
जब गर्मियों का मौसम आता है तो मैं रात को खुले आसमान के नीचे सोना पसंद करता हूं। मीलों-मीलों तक फैला आसमान, उसमें चमकते ढेरों सितारे और खूबसूरत चांद देखकर मैं हर रोज सोचता हूं कि यह कायनात इतनी बड़ी है तो इसे बनाने वाला कितना बड़ा होगा! उसकी...
माननीय जनरल बिपीन रावत, आपने कश्मीरी नागरिको को चितावनी दी है कि अगर वे सेना की कार्यवाई के साथ सहयोग करने में असफल रहे तो आप निहीत सेना के साथ उन पर गोलिया चलाने से संकोच नहीं करेंगे अच्छी व्यवस्था के लिए न केवल जो पत्थर फेंकते है बल्की वो...

फेसबुक पर लाइक करें

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार

सप्ताह की प्रमुख खबरें

error: Contents of Kohraam.com are copyright protected.