33.5 C
New Delhi,India
Monday, August 21, 2017
Home पाठको के लेख

पाठको के लेख

आसिम बेग "मिर्ज़ा" (युवा लेखक, स्वतंत्र टिप्पणीकार) दोस्तों, आपसे एक सवाल है कि अगर कोई कमज़ोरों और निर्दोषों पर हो रहे ज़ुल्म के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाए तो क्या ये जुर्म है, लेकिन बदक़िस्मती से समाज में कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्हें ये अच्छा नहीं लगता लेकिन हैरानी तब और...
राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। श्री रामनाथ कोविंद जी भारत के अगले राष्ट्रपति होंगे। मैं कुछ आगे लिखूं इससे पहले श्री रामनाथ कोविंद को भारत के राष्ट्रपति चुने  जाने पर मेरा हार्दिक बधाई एवं मंगलकामनाएं। राष्ट्रपति चुनाव एवं बैलेट पेपर का इस्तेमाल राष्ट्रपति चुनाव में जनप्रतिनिधियों द्वारा बैलेट पेपर का इस्तेमाल किए जाने पर सोशल...
मैं पुनः और बार बार अमरनाथ यात्रियों पर हुए जानलेवा हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता हूँ और अल्लाह से दुआ करता हूं कि इस घटना के ज़िम्मेदार लोगों को देश की जनता के सामने लेकर आए और उनके किए की कड़ी सज़ा दे। इस घटना के विषय...
आतंकवाद की चर्चा जोरों पर है। लोग आतंकवाद की अलग-अलग परिभाषाएं भी बना लिए हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो  आतंकवाद को अच्छा आतंकवाद और बुरा आतंकवाद के रूप में देखते हैं। हद तो तब होती है जब अपने आप को पढ़ा लिखा और  राष्ट्रभक्त बताने वाले...
इस देश में मस्जिद के बाहर उस मस्जिद के आसपास रहने वाले जाने पहचाने चेहरे जमा होते हैं। नारा लगता है। भारत माता की जय। वंदे मातरम। मस्जिद के अंदर अफरातफरी मचती है। इमाम गेट पर आते हैं। नारा लगाने वाला समूह उन्हें गेट की चौखट से नीचे खींच...
हरियाणा के हिसार मे बजरंगदल के गुंडों ने मस्जिद मे नमाजी को पीटकर अमरनाथ यात्रा पर हुऐ हमले का 'बदला' ले लिया। तो उधर यूपी के कमलेश तिवारी ने धमकी दे दी कि अमरनाथ यात्रा का बदला लिया जायेगा हज यात्रा से लेकर मजारो तक पर हमला होगा। जब...
आज जिस प्रकार से लोग डिवाइड एण्‍ड रूल पालिसी के अनुयायी बनकर भारत की एकताएवं अखण्‍डता की बात कर रहे हैं, बड़ा ही हास्‍यास्‍पद एवं चिंताजनक है। एक तरफ एकता एवं अखण्‍डता की बात दूसरी तरफ डिवाइड एण्‍ड रूल का अनुकरण कितना मज़ेदार तथ्‍य हैं? कितनी आसानी से आम जनमानस...
अधिकांश बच्चों में, विशेषकर छोटे बच्चों में, टीबी उनके निकटजनों से ही संक्रमित होती है। अविश्वसनीय तो लगेगा ही कि सरकार ने अनेक साल तक बच्चों में टीबी के आँकड़े ही एकाक्रित नहीं किए पर 2010 के बाद के दशक में अब बच्चों में टीबी नियंत्रण पर सराहनीय काम...
ज़मीन एवं ज़मीर की लड़ाई का सबसे बड़ा उदाहरण है। हक़ और बातिल की लड़ाई में अपनी कई पीढ़ियों को क़ुर्बान कर देने वाला मुल्क फ़लस्तीन है। भारत का वो साथी है जिसके लिये गांधी हमेशा बेचैन रहते थे, नेलसन मंडेला जिसकी आज़ादी के बग़ैर अफ़्रीकियों की आज़ादी को बेमतलब...
तनिक भी भ्रमित मत होइयेगा कि अब क्यों नाॅट इन माई नेम... अब तो बंगाल में मियाँ भाई भी गदर काट दिये। हाँ काट दिये तो... इसीलिये तो शायद अब ऐसे बैनर की जरूरत और प्रासंगिक हो उठी है, क्योंकि अब वह हिंदू, जो इस अभियान में हमारे साथ...

फेसबुक पर लाइक करें

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार

सप्ताह की प्रमुख खबरें

error: Contents of Kohraam.com are copyright protected.