29 C
New Delhi,India
Friday, June 23, 2017
Home पाठको के लेख

पाठको के लेख

पिछले दिनों जब मैं नोएडा स्थिति देश के एक प्रतिष्ठित और लोकप्रिय चैनल में संपादक के रूप में कार्यरत अपने एक मित्र से मिलने गया था तो उनसे शिकायत करते हुए कहा कि "आपका चैनल "पत्रकारिता" के सैद्धान्तिक मापदंडों का पहले चीर हरण करता है फिर उसका बलात्कार करता...
- उदय चे आज राजस्थान के मोरो ने सामूहिक आत्महत्या करने का फैसला किया है। उन्होंने प्रेस को जारी बयान में बताया है कि हम बहुत दुखी है। दुखी होने का कारण हाई कोर्ट के अनपढ़ ब्राह्मणवादी जज का बयान है। जिसमे उन्होंने कहा है कि मोर अपनी मुतनी का...
देश चौपट हो गया है, इसको संभलने में 10 साल लगेंगे वो भी तब जब कोई अशांति न हो लोगों को साल भर काम मिले 3665 दिन ! वरना जिस तरह से मामूली कहासुनी पर हत्याऐं हो रहीं हैं वो संकेत हैं कि लोग किस कदर भविष्यहीन हैं ! और...
ट्रेन के इंतज़ार में हज़रत निज़ामुद्दीन दिल्ली स्टेशन पर बैठा हुआ हूँ पास में एक फैमिली भी बैठी आकर हालाकिं मैं पहले से ही बैठा हुआ था उस बैंच पर लेकिन उनको मैंने जगह दी और एडजस्ट करके बैठा लिया तीन सीट वाली बैंच पर हम बैठे हुए थे...
2007 में शुरू की गई मिड डे मील भारत की सबसे सफल सामाजिक नीतियों में से एक है, जिससे होने वाले लाभों को हम स्कूलों में बच्चों कि उपस्थिति बाल पोषण के रूप में देख सकते हैं. आज मिड डे मील स्कीम के तहत देश में 12 लाख स्कूलों...
कामरान गनी सबा बिहार में शिक्षा की स्थिति कितनी दयनीय है इसका अंदाज़ा 2017 के इंटरमीडिएट के परिणाम से लगाया जा सकता है. ज्ञात रहे कि इस वर्ष इंटरमीडिएट साइंस में 70 प्रतिशत और कला में 63 प्रतिशत विद्यार्थी असफल हुए हैं  इससे पहले भी कई बार बिहार की शिक्षा व्यवस्था...
बहुत सारी बातें लिहाज़ मे होती हैं ख़ौफ या क़ानून से नहीं। ज़्यादती लिहाज़ ख़त्म कर देती है और जो ढकी छिपी बातें हैं वो सड़क पर आ जाती है। लिहाज़ और डर दोनों की ही एक निश्चित सीमा है। इस सीमा के पार ढिढाई और अड़ियलपन है। सहारनपुर...
bibi fahtima
उम्मुल मोमेनीन हज़रत बीबी खदीजा रदियल्लाहू अन्हा की आखिरी निशानी हज़रात खातुने जन्नत बीबी फातिमा हैं आप 20 जमादिस्सानी को ऐलाने नुबुवत से 5 साल पहले मक्का में पैदा हुई आप तमाम जन्नत की औरतो की सरदार हैं. अल्लाह के रसूल जब हिजरत फरमा कर मदीना तशरीफ़ लाये, उस वक्त...
रमजान का पवित्र महीना अपनी रहमतों अवर बरकतओं के साथ हमें अपने साए मैं लिए होए है। वास्तव मैं एक मुसलमान की ये खुश क़िस्मती है कि वो इस मुबारक महीने में सांस ले, इबादतों में लगा रहे और अल्लाह तआला के उदारता अवर दया का हक़दार बने। चूंकि...
बाहुबली भारतीय सिने इतिहास में मील का पत्थर साबित हुई है. यह देसी फैंटेसी से भरपूर एक भव्य फिल्म है जो अपने प्रस्तुतिकरण,बेहतरीन टेक्नोलॉजी, विजुअल इफेक्ट्स और सिनेमाई कल्पनाशीलता से दर्शकों को विस्मित करती है. एस.एस. राजामौली के निर्देशन में बनी यह  फिल्म भारत की सबसे ज्यादा कमाने वाली...

फेसबुक पर लाइक करें

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार

सप्ताह की प्रमुख खबरें

error: Contents of Kohraam.com are copyright protected.