एबीवीपी के मार्च के दौरान राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, वृंदा करात और डी राजा जैसे नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की गई।

जेएनयू में देश विरोधी नारों के विरोध में बुधवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्(एबीवीपी) ने रामलीला मैदान से जंतर मंतर तक मार्च निकाला। इस दौरान दिल्‍ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ अध्‍यक्ष सतेंदर अवाना ने कहा कि यदि देश विरोधी नारे लगाने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई तो हम उनके कैंपस में घुसेंगे और गद्दारों को गोली मार देंगे।

उन्‍होंने एबीवीपी सदस्‍यों को संबोधित करते हुए कहा,’ जेएनयू के जो छात्र यह सोचते हैं कि वे कुछ भी कहने के बावजूद बच जाएंगे। इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया में वीडियो एडिट करने से उन्‍हें मदद मिल जाएगी। लेकिन हम सबने वहां लगाए गए नारे सुने हैं। जेएनयू के हमारे भाइयों ने हमें बताया है कि वहां क्‍या हुआ था। यदि ऐसे लोगों को सजा नहीं दी गई तो हमारे जैसे जागरूक युवक उनके कैंपस में जाएंगे और गद्दारों को गोली मार देंगे।’

जेएनयू छात्र संघ के जॉइंट सेक्रेटरी सौरभ शर्मा ने कहा, ‘ऐसे देश विरोधियों के चलते मेरी यूनिवर्सिटी की छवि को नुकसान पहुंचा है। उनमें से कुछ कायरों ने कल सरेंडर किया लेकिन कुछ अभी भी कैंपस में घूम रहे हैं। वामपंथी पार्टियां और जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन देश का अनादर करने वाले लोगों को बचाना चाहते हैुं।’ एबीवीपी के मार्च के दौरान राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, वृंदा करात और डी राजा जैसे नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की गई। साथ ही ‘जिस कश्‍मीर के लिए हम लड़ें हैं, वो पूरा कश्‍मीर हमारा है’ और ‘जेएनयू के गद्दारों को गोली मारो सारों को’ जैसे नारे भी लगाए गए। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें