हिंसा बीरभूम जिले के इलमबाजार इलाके में हुई। इसमें एक की मौत हो गई और तीन अन्‍य लोग गंभीर रूप से घायल भी हो गए

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के इलमबाजार इलाके में पुलिस और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच हुए झगड़े में एक की मौत हो गई। इस घटना में तीन अन्‍य लोग गंभीर रूप से घायल भी हो गए। हिंसा पैंगबर मुहम्‍मद को लेकर कथित आपत्तिजनक पोस्‍ट की वजह से हुई। इसके बाद थाने में तोड़फोड़ की गई। वहीं पुलिस पर आरोप है कि उसने मस्जिद को निशाना बनाया। मृतक की पहचान रेजुल इस्‍लाम के रूप में हुई है। एन-60 ब्‍लॉक करने के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं पोस्‍ट करने वाले व्‍यक्ति सुजान मुखर्जी को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘सुजान की गिरफ्तारी के अगले दिन हिंसा हुई। थाने के बाहर भीड़ इकट्ठा हो गई। भीड़ ने सुजान को उन्‍हें सौंपने की मांग की। वे खून के प्‍यासे थे। भीड़ पर काबू पाने के लिए हमें आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े।’ एसपी मुकेश कुमार के अनुसार आरोपी सुजान थर्ड ईयर कंप्‍यूटर टेक्‍नोलॉजी का छात्र है। उसे कोर्ट ने 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया। वहीं पंचायत समिति सदस्‍य अबुल कलाम ने थाने में तोड़फोड़ से इनकार किया। उन्‍होंने कहा कि बाहरी लोगों ने थाने पर हमला किया। यह चुनावों से पहले ध्रुवीकरण के चलते किया गया।

इधर, भगबतीपुर के मुसलमानों ने पुलिस पर नमाज के दौरान मस्जिद में घुसने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि जब नमाज पढ़ी जा रही थी तब पुलिस ने उनसे मारपीट की। मदरसे के प्रधान अध्‍यापक मोनीरुल इस्‍लाम ने बताया,’जब नमाज चल रही थी तब पुलिस मस्जिद में घुसी। इस पवित्र जगह पर हिंसा नहीं की जा सकती लेकिन उन्‍होंने नमाज पढ़ने वालों को घसीटा और पीटा।’ पुलिस ने इससे इनकार किया है। इसी बीच कुछ लोगों ने सुजान मुखर्जी के घर पर भी हमला बोल दिया। इन लोगों ने मकान को नुकसान पहुंचाया। पुलिस का दावा है कि अब स्थिति काबू में है। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें