114199-494475-sadananda-gowdaभारत के कानून एवं न्याय मंत्री और केरला के पूर्व मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने बीते मंगलवार को एक बयान दिया है. जिसमे उन्होंने कहा है की ” मुसलमानों को आतंकवाद के झूठे मामलों में फंसाना चिंता की बात है”.

एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा की युवा मुस्लिम्स बच्चों के ऊपर झूटे आतंक के केस लगाए जाने से वह चिंतित है. जबकि उनके खिलाफ बाद में कोई सबूत न मिलने पर उनको रिहा कर दिया जाता है जोकि गलत हैं और चिंता का विषय है.

अलीगढ में मोदी सरकार के दो वर्ष पुरे होने की ख़ुशी में इस प्रोग्राम को आयोजित किया गया था. इस कार्यक्रम में मोदी सरकार की उप्लभ्धियो को बताने के लिए मनाए जा रहे ‘विकास पर्व’ में शामिल होने आए गौड़ा ने मुसलमानो को लेकर चिंता बता डाली.

गौड़ा ने कहा झूटे केस में फसे लोगों को बचाने के लिए कानूनी संशोधनों पर विचार हो रहा है और इसमें बदलाव पर विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा, “आतंक के झूठे आरोपों के आधार पर मुस्लिम युवाओं को गिरफ्तार करना चिंता का विषय है. हम इसमें बदलाव लाने के बारे में सोच रहे है. लॉ कमीशन इन मामलों की कानूनी प्रक्रिया में बदलाव लाने के लिए रिपोर्ट तैयार कर रहा है. सुप्रीम कोर्ट के जज के नेतृत्व में यह रिपोर्ट तैयार की जा रही है”

गौर तलब है की हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के बीच बढे हुए तनाव को खत्म करने के लिए ऐसे कदम उठाये जा रे है इससे पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि सरकार आतंकी घटनाओं की जांच के दौरान पुलिस द्वारा सभी संदिग्धों पर आरोप लगाने के बजाय अधिक संवेदनशील तरीके अपनाए जाने के पक्ष में है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें