प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने आज कहा कि योग को विश्व पटल पर स्थापित करना सराहनीय प्रयास है लेकिन इस प्राचीन भारतीय पद्धति को अपनाने से क्या लोगों को महंगाई के दर्द से राहत मिलेगी.

मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा है, ‘‘130 देशों को ‘नरेन्द्रासन’ करवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी प्रशंसा के पात्र हैं। दुनिया झुकती है, झुकानेवाला चाहिए। इस युक्ति की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी ने 130 देशों को योग के बहाने जमीन पर लिटा दिया।’’

और पढ़े -   साध्वी से रेप करने से लेकर साधुओ को नपुंसक बनाने के है आरोप, जानिये गुरु राम रहीम की पूरी कहानी

मुखपत्र में कहा गया है, ‘‘योग के जरिये बहुत कुछ हासिल किया जा सकता है लेकिन दैनिक जीवन की महंगाई और भ्रष्टाचार की वेदना को इसके माध्यम से भूला जा सकता है क्या? इस पर रोशनी डाली गयी होती तो उचित होता।’’ पिछले वर्ष संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE