पलामू झारखंड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को ‘स्टार्ट-अप इंडिया’ पहल और ‘स्टार्ट-अप कार्ययोजना’ पेश करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में कहा कि लांच कार्यक्रम का मकसद देश के युवाओं की उद्यमिता भावना को सामने लाना है और लांचिंग कार्यक्रम में देश-विदेश के स्टार्ट-अप संस्थापकों के हिस्सा लेने की संभावना है.

narendra-modi_650x400_51451575249

इस कार्यक्रम का लक्ष्य स्टार्ट-अप को वित्तीय सुविधा उपलब्ध कराना और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहन पेश करना है. बयान में कहा गया है कि मोदी स्टार्ट-अप कार्ययोजना पेश करेंगे, वर्चुअल प्रदर्शनी देखेंगे और स्टार्ट-अप उद्यमियों से बातचीत करेंगे.

बयान के मुताबिक कि फेस-टू-फेस विद पॉलिसी मेकर’ सत्र में विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के सचिव स्टार्ट-अप माहौल बनाने से संबंधित सवालों के जवाब देंगे.

कार्यक्रम में सॉफ्टबैंक संस्थापक मसायोशी सोन और वीवर्क के संस्थापक एडम न्यूमन सरीखे वेंचर कैपिटलिस्ट और कारोबारियों के साथ एक परिचर्चा सत्र भी आयोजित होगा.

कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी), भारतीय प्रबंधन संस्थानों (आईआईएम), राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (एनआईटी) और भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईआईटी) और केंद्रीय विश्वविद्यालयों तथा 350 से अधिक जिलों के युवा समूहों के बीच किया जाएगा.

इस बीच फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के एक बयान के मुताबिक, शुक्रवार के उसके एक कार्यक्रम में प्रतिभागियों ने कहा कि भारत के लिए स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने वाली नीति लागू करने का समय आ गया है.

यहां अमेरिकी दूतावास के मिनिस्टर काउंसलर जॉर्ज सिब्ले ने इस कार्यक्रम में कहा कि देश का वर्तमान नियामकीय ढांचा उद्यमिता की अधिक गुंजाइश प्रस्तुत नहीं करता है. साभार: न्यूज़ 18


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें