नई दिल्ली | देश में सुरक्षाबलो के जवानों पर लगातार हमले हो रहे है. पहले छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के हमले में 25 CRPF जवान शहीद हो गए तो आज कश्मीर में पाकिस्तानी सेना के हमले में हमारे 2 जवानों को जान से हाथ धोना पड़ा. यही नही शहीद हुए दोनों जवानों के शवो के साथ पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम ने बर्बरता भी की जिसके बाद पुरे देश में गुस्से की लहर दौड़ गयी.

देश से आवाज उठी की आखिर कब तक हमारे जवान यूँ ही शहीद होते रहेंगे और कब तक सरकार केवल कड़ी निंदा करके अपना पीछा छुड़ाती रहेगी. हर बार सरकार की तरफ से केवल दो शब्द सुनाई देते है की हम मुंहतोड़ जवाब देंगे. लेकिन यह सब केवल शब्दों तक ही सिमित रह जाता है. आपको याद दिलाते चले की यूपीए की मनमोहन सरकार में जब ऐसे हमले हुए थे तब बीजेपी नेता स्मृति ईरानी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी.

जिस पर काफी बवाल भी हुआ था. उन्होंने कहा था की मन करता है की प्रधानमंत्री जी को चूडियाँ भेजूं, 10 लड़के पाकिस्तान से आये और हमला करके चले गए. लेकिन कड़ी कार्यवाही करने की बजाय सरकार पाकिस्तान के आगे हाथ फैला रही है. अब स्मृति इरानी के यही शब्द उनको बार बार याद दिलाये जा रहे है. पहले लखनऊ के एक पूर्व अन्तराष्ट्रीय खिलाडी ने उनको एक हजार का चेक भेजकर उनके शब्द उन्हें याद दिलाये और अब बारी कांग्रेस की थी.

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने बिना नाम लिए स्मृति इरानी पर निशाना साधते हुए पुछा की आप कब मोदी जी को चूडियाँ भेज रही है. उन्होंने कहा की यूपीए कार्यकाल में इनकी एक महिला एमपी, पीएम को चूड़ियाँ भेजना चाहती थी जब ऐसा हादसा हुआ. अब वो मंत्री है , क्या अपने पीएम को चूड़ियाँ भेजेंगी. कपिल सिब्बल का साफ़ तौर पर इशारा स्मृति इरानी की ही और था. वो अब कपडा मंत्रालय का कार्यभार संभाल रही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE