दरभंगा। दिल्ली के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विवि (जेएनयू) इन दिनों विवादों से घिरा है। ताजा मामला बिहार के दरभंगा का है। चोरी के आरोप में दरभंगा मंडल कारा में बंद जेएनयू के एक छात्र विवेक कुमार गुप्ता ने दबंग कैदियों की अमानवीय यातनाओं से परेशान होकर छत से कूदकर आत्महत्या की कोशिश की। घायल छात्र को दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (डीएमसीएच) में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार जेल का एक दबंग कैदी दीपक राय रंगदारी की मांग को लेकर विवेक को आए दिन यातनाएं देता था। मंगलवार को भी उसने विवेक से 50 हजार रुपये की रंगदारी मांगी। उसने विवेक से पिता को फोन करवाया और अविलंब पैसे पहुंचाने की धमकी दी। रात होते-होते दीपक ने विवेक को बिजली के हीटर पर पेशाब करने के लिए मजबूर किया। इसके बाद कंबल में लपेटकर लात-घूसों से पीटा।

और पढ़े -   कमल हासन ने कहा - कामचोर नेताओं को नहीं दी जानी चाहिए तनख्वाह

आए दिन की ऐसी यातनाओं से टूट चुके विवेक ने खुदकुशी करने की ठानी। बुधवार की सुबह लगभग 10 बजे उसने मंडल कारा के वार्ड नंबर एक की छत से कूदकर जान देने की कोशिश की। बेहोशी की हालत में उसे जमीन पर पड़ा देख जेल प्रशासन ने उसे डीएमसीएच में भर्ती कराया।

विदित हो कि गत 26 फरवरी की रात सदर थाने के भेलूचक मोहल्ले में एक साथ चार घरों में चोरी हुई थी। उसी वक्त रास्ते से गुजर रहे विवेक को लोगों ने चोर समझकर पकड़ लिया। सदर थाने की पुलिस ने बिना किसी पूछताछ के सीधे उसे उठाकर जेल में डाल दिया, जबकि वह बार-बार खुद को बेकसूर बताता रहा। विवेक तब से जेल में बंद है।

और पढ़े -   असफल योजनाओ की सफल सरकार है मोदी सरकार- रवीश कुमार

घटना के संदर्भ में जब जेल अधीक्षक सूर्यनाथ सिंह से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। (Naidunia)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE