"Do not blame Muslims for terrorism in: Malala Yousafzai

नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने कहा कि भारत, पाकिस्तान और संयुक्त राष्ट्र को साथ मिलकर गलतियों को सुधारने काम करना चाहिए और कश्मीरियों को  “गरिमा, सम्मान और स्वतंत्रता जिसके वे हकदार” प्रदान करना चाहिए।

नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने भारत, पाकिस्तान और संयुक्त राष्ट्र से एक साथ मिलकर कश्मीर में बढ़ रही “निर्दयता और नफरत” को समाप्त करने के लिए साथ आने का आग्रह किया है।

पाकिस्तान के डॉन न्यूज़पेपर से बातचीत में मलाला ने काहा कि “कश्मीरी लोग भी, अन्य लोगों की तरह, मौलिक मानवाधिकारों के पात्र हैं। उनको भय और दमन से मुक्त रहना चाहिए।”

मलाला ने आगे कहा कि दर्जनों निहत्थे प्रदर्शनकारियों मारे गए हैं और हजारों घायल हो गए,” उसने कहा, “.पेलेट गन से  हजारों की आँखों की रौशनी जा चुकी हैं. कई स्कूलों को बंद कर दिया गया है के सैकड़ों बच्चों को उनकी कक्षाओं से दूर रखे हुए हैं।”

मलाला ने संयुक्त राष्ट्र, अंतरराष्ट्रीय समुदाय, भारत और पाकिस्तान को साथ मिलकर काम करते हुए इन गलतियों को सुधार कर कश्मीर के लोगों को गरिमा, सम्मान और स्वतंत्रता के अधिकार उपलब्ध कराना चाहिए जिसके वे हकदार हैं।

“मैं कश्मीर के लोगों के साथ खड़ी हूँ, मेरे 14 लाख कश्मीरी भाई-बहन हमेशा मेरे दिल के करीब है”


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें