M_Id_421042_front

नई दिल्ली – बहुत पहले एक कहावत सुनी थी ‘निवाला छीनना‘, इस कहावत से मिलता जुलता काफी कुछ कैराना की राजनीती पर घटित हो रहा है जहाँ कुछ दिन पूर्व हुकम सिंह ने कैराना से हिन्दू परिवारों के पलायन की बात कहकर एक लिस्ट जारी की थी इस अचानक से इस मामले को काफी हवा मिल गए थी वही चौतरफा किरकिरी झेल रहे हुकम सिंह अब इसे ठंडा करने में जुटे है.

और पढ़े -   जीएसटी की दरे हुए निर्धारित , जानिए किस आइटम पर कितना लगेगा टैक्स

दरअसल राजनीती इतनी गरमाई हुई है की है मुज़फ्फरनगर दंगो से चर्चा में आए विधायक संगीत सोम ने सरधना से कैराना तक पैदल मार्च करने का ऐलान किया है दूसरी तरफ हुकम सिंह इस कवायद में लगे है की संगीत सोम कैराना ना आए उनके यहाँ आने सांप्रदायिक तनाव बढेगा. गौरतलब है कि हुकुम सिंह ने ही सबसे पहले ये खुलासा किया था कि कैराना से हिंदू डर के मारे पलायन कर रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों की सूची भी जारी की थी जिन्होंने इलाके से घर-बार छोड़कर कहीं और बसेरा बसा लिया। इसके बाद से ही इस मुद्दे पर राजनीति गरमाई हुई है।

और पढ़े -   इल्म के बिना इंसान अधूरा है : आरिफ बरकाती

इलाहाबाद में बीजेपी कार्यकारणी बैठक में भी यही मुद्दा छाया रहा जिसे लेकर संगीत सोम ने कैराना तक पैदल मार्च करने का ऐलान कर डाला, मेरठ में हुकुम सिंह ने आज कहा कि संगीत सोम के वहां आने से इलाके में सांप्रदायिक तनाव बढ़ेगा इसलिए बेहतर यही है कि वे न आएं। गौरतलब है कि हुकुम सिंह की पलायन कर चुके हिंदुओं की सूची में कई खामियां हैं जो मीडिया में लगातार उजागर हो रही हैं। अब वे खुद भी कह रहे हैं कि ये मामला सांप्रदायिकता का नहीं बल्कि कानून व्यवस्था का है।

और पढ़े -   जीएसटी की दरे हुए निर्धारित , जानिए किस आइटम पर कितना लगेगा टैक्स

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE