smriti-irani-refuses-to-take-memo-in-urdu

नई दिल्ली। केंद्र सरकार मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को जेड-प्लस सुरक्षा दे सकती है। वर्तमान में उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। सूत्रों के अनुसार, हैदराबाद यूनिवर्सिटी में रोहित वेमुला के सुसाइड केस के बाद छात्रों के उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन और राजनेताओं के भी इस मामले में कूदने के चलते सरकार उनकी सुरक्षा बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रही है।

जेड श्रेणी की सुरक्षा मिल जाने पर हर समय 20 सुरक्षाकर्मी उनके साथ तैनात रहेंगे। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, वेमुला के सुसाइड केस के बाद उनकी सुरक्षा अप्रयाप्त मानी जा रही थी जिसके चलते असामाजिक तत्व इसका

फायदा उठाकर उन्हें नुकसान पहुंचा सकते हैं। �

वर्तमान में कुछ कैबिनेट और राज्यमंत्रियों को जेड या फिर जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। जिन नेताओं को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है वे हैं गृहमंत्री राजनाथ सिंह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली, गृहराज्यमंत्री किरन रिजिजू और जितेंद्र सिंह। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोवाल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को भी जेड-प्लस सुरक्षा मिली है।

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि वीआईपी सुरक्षा खतरे काअध्ययन करने के बाद मिलती है। सूचना मिली थी कि स्मृति ईरानी के सुरक्षा घेरे को तोड़ा जा सकता है जिसके चलते हम उनकी सुरक्षा बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं। अधिकारी ने आगे बताया कि हर दूसरे दिन शास्त्री भवन के बाहर विरोध प्रदर्शन होता रहता है। ईरानी का मंत्रालय इसी भवन में स्थित है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें