calcuttahighcourt-kpuh-621x414livemint

कोलकाता | नोटबंदी के फैसले के बाद देशभर से मिली जुली प्रतिक्रियाये आ रही है. कुछ लोग इस फैसले के विरोध में है तो कुछ इसका खुलकर समर्थन कर रहे है. लोगो को हो रही परेशानी को देखते हुए , इस फैसले के खिलाफ पहले ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली जा चुकी है. एक ऐसी ही याचिका देश भर के हाई कोर्ट में भी डाली गयी है.

सुप्रीम कोर्ट के नोटबंदी फैसले को रोकने से मना करने के बाद , अब हाई कोर्ट की तरफ सबकी नजरे है. हालाँकि कुछ हाई कोर्ट पहले ही इस तरह की याचिका को ख़ारिज कर चुके है वही कोलकाता हाई कोर्ट ने मोदी सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा की इससे जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

और पढ़े -   शेख हसीना ने की म्यांमार में सेफ जोन बनाकर रोहिंग्या मुस्लिमों को बसाने की मांग

कोलकाता हाई कोर्ट ने कहा की जब सरकार यह फैसला ले रही थी तब उन्होंने दिमाग का सही प्रयोग नही किया. रोज बदल रहे फैसले इसी और इशारा करते है. आपके तमाम प्रयासों के बावजूद बैंकों के सामने से लाइन छोटी होने का नाम नही ले रही है. जनता , कैश न होने की वजह से परेशान हो रही है. मरीजो को इलाज नही मिल रहा है.

और पढ़े -   40 साल से बन रही नहर का बाँध टूटा, नितीश आज करने वाले थे उद्घाटन

कोर्ट में सुनवाई करते हुए जज ने कहा की मेरे खुद के बेटे का इलाज नही हो पा रहा है. मेरे बेटे को डेंगू है लेकिन कोई अस्पताल पुराने नोट लेने को तैयार नही है. ऐसे में क्या किया जा सकता है. चूँकि सरकार रोज नए नए फैसले ले रही है जो यह दिखाता है की इस फैसले को लेने से पहले कोई होम वर्क नही किया गया. हालाँकि कोर्ट ने कहा की वो सरकार का फैसला बदल नही रही है लेकिन आपको लोगो की परेशानी का ख्याल रखना होगा. इस मामले की अगली सुनवाई अगले शुक्रवार को की जाएगी.

और पढ़े -   लालकिले पर सेल्फी लेते यूक्रेन के राजदूत का मोबाइल छीन कर भाग गया झपटमार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE