नई दिल्ली देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का ऐलान हो चुका है। मोदी से लेकर राहुल गांधी तक, सभी पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। हालांकि, सीवीटर द्वारा चार राज्यों में कराए गए पोल में चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं।

 CVoter पोल: असम में बीजेपी बहुमत से दूर, बंगाल में लौटेंगी ...

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित पोल के आंकड़े बताते हैं कि एक तरफ केरल में सीपीएम के नेतृत्व वाले एलडीएफ की सरकार बनेगी, तो दूसरी तरफ असम में बीजेपी गठबंधन बहुमत से पीछे रह जाएगा। इसी तरह, पश्चिम बंगाल में कम बहुमत से ही सही पर तृणमूल कांग्रेस की सरकार बनेगी। पोल से जुटाए गए आंकड़ों में एआईएडीएमके तमिलनाडु में आधी सीटें हासिल करने से दो सीटें पीछे दिख रही है।

हालांकि, अभी चुनावी मूड का सही अनुमान लगाना जल्दबाजी होगी लेकिन इस पोल से यह जरूर अंदाजा लग रहा है कि मौजूदा वक्त में पार्टियां किस हालत में खड़ी हैं। इस सर्वे के लिए 14,353 लोगों से बात की गई। सीवोटर के मुताबिक, सर्वे के नतीजों में स्टेट लेवल पर तीन फीसदी और रीजनल लेवल पर पांच फीसदी का फर्क आ सकता है।

केरल में लेफ्ट का जलवा
सर्वे के मुताबिक, लेफ्ट पार्टियों को करीब 44.6 फीसदी वोट हासिल होगा। अगर सीटों के हिसाब से देखें तो एलडीएफ को 140 में से करीब 89 सीटों पर जीत मिलेगी। इसके उलट, कांग्रेस का यूडीएफ गठबंधन महज 49 सीटों पर सिमट जाएगा। इस वक्त कांग्रेस के पास विधानसभा में 72 सीटें हैं।

असम में किसी को बहुमत नहीं
यहां कांग्रेस की तरुण गोगोई सरकार को झटका लग सकता है। सर्वे के मुताबिक, वोट शेयर में चार फीसदी की गिरावट देखने को मिल सकती है और इसकी वजह से कांग्रेस 34 सीटों पर ही सिमट जाएगी। आधी सीटों तक पहुंचने के लिए भी कांग्रेस को 64 सीटें हासिल करनी होंगी। इसके इतर, बीजेपी गठबंधन को 57 सीटें मिलने की उम्मीद है यानी इन्हें भी पूर्ण बहुमत नहीं हासिल होगा।

बंगाल में लेफ्ट बनाम टीएमसी
बंगाल में किए गए पोल के आंकड़े बताते हैं कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस की सरकार एक बार फिर बनेगी। हालांकि, इस बार टीएमसी को 156 सीटों से भी संतोष करना पड़ेगा। दूसरे नंबर पर 114 सीटों के साथ सीपीएम रहेगी। अगर इस पोल को सही माना जाए तो बंगाल में लेफ्ट की ताकत फिर बढ़ेगी और तृणमूल की लोकप्रियता में गिरावट देखने को मिलेगी। इतना ही नहीं, बीजेपी के खाते में सिर्फ चार सीटें आएंगी।

तमिलनाडु में जयललिता की वापसी!
अगर सर्वे के आंकड़ो पर भरोसा किया जाए तो इस बार भी जयललिता सरकार बनाने में कामयाब हो सकती हैं। उनकी पार्टी एआईएडीएमके को 116 सीटें मिल सकती हैं। यह आंकड़ा बहुमत से सिर्फ दो सीट कम है। करुणानिधि की डीएमके को भी 101 सीटें मिलने का अनुमान है। (NBT)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE