una kand

गुजरात के उना में भगवा संगठनों द्वारा कथित गौरक्षा को लेकर की गई दलितों की मारपीट मामलें की जांच कर रही गुजरात CID का कहना है कि गाय को दलित परिवार ने नहीं बल्कि एक शेर ने मारा था. गुजरात CID ने एक चश्मदीद बयान के आधार पर ये दावा किया हैं. इससे पहले कथित गौरक्षकों का आरोप था कि दलित युवकों ने गौहत्या की थी.

हालांकि, CID को अब तक इस बारें में पता नहीं चला है कि गौरक्षकों को इस बात का कैसे पता चला कि बालूभाई का परिवार ऊना में कहां पर गाय की चमड़ी निकाल रहा है. बालू सावरिया ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान भी इस बात की जानकारी दी थी कि उन्होंने गाय को मारा नहीं था.

यह केस 20 जुलाई को CID को सौंपा गया था। सोमवार (25 जुलाई) को CID ने पकड़े गए 16 लोगों में से 5 को अपनी कस्टडी में ले लिया है. फिलहाल वीडियो की भी जांच चल रही है जिसमे पता जा रहा है कि भीड़ का नेतृत्व कौन कर रहा था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE