नयी  दिल्ली : राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने मध्य प्रदेश के खिरकीया स्टेशन पर गोमांस होने के संदेह में हिंदूवादी कार्यकर्ताओं द्वारा एक मुस्लिम दंपती की कथित तौर पर पिटाई किए जाने की घटना की निंदा करते हुए आज कहा कि प्रशासन को जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए.

muslim-beef-620x400

आयोग के अध्यक्ष नसीम अहमद ने कहा, ‘‘यह घटना निंदनीय है. इसकी जितनी निंदा की जाए कम है. इन लोगों को मॉरल पुलिसिंग का ठेका किसने दिया है. दादारी के समय भी हमने यही बात कही थी और आज भी कह रहे हैं कि इस तरह की घटनाओं को रोकने की जरूरत है.’
उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह की घटनाओं को नहीं रोका गया तो स्थिति और बिगड़ सकती है. हम चाहेंगे कि संबंधित प्रशासन इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करे. मंगलवार को हम बैठक कर रहे हैं और इसके बाद इस घटना को लेकर आगे के अपने कदम के बारे में फैसला करेंगे .’ भोपाल से करीब 30 किलोमीटर दूर खिरकीया स्टेशन पर गोमांस होने की सूचना पर हिन्दूवादी कार्यकर्ताओं द्वारा ट्रेन में यात्रा कर रहे मुस्लिम दंपती के सामान की कथित तौर पर तलाशी ली और उनकी पिटाई की. इस घटना के बाद दो समुदायों के बीच मारपीट भी हो गयी.
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किरनलता केरकट्टा ने आज बताया कि गोरखपुर जा रही कुशीनगर एक्सप्रेस की जनरल बोगी में तलाशी के दौरान एक लावारिस बैग से 25 किलोग्राम भैंस का मांस बरामद किया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस ने मोहम्मद हुसैन (43) और उनकी पत्नी नसीम बानो (38) से मारपीट करने और ट्रेन के सात अन्य यात्रियों के सामान की तलाशी लेने के आरोप में गौरक्षा समिति के हेमंत राजपूत और संतोष को गिरफ्तार किया है. साभार: प्रभात खबर

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें