मेरठ। उत्तर प्रदेश भाजपा में एक बार फिर से भूचाल आया हआ है। मामला मेरठ-गाजियाबाद सीट पर भाजपा के एमएलसी प्रत्याशी के चयन का है। मामले की जांच भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष शिवप्रताप शुक्ल कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि प्रत्याशी के चयन के लिए पैसों का लेनदेन किया गया था, जोकि एक सीडी में कैद हो गया।

बड़े नेता भी शामिल
पैसों के लेनदेन की इस सीडी ने भाजपा में खलबली मचाई हुई है। बताया जा रहा है कि करीब आधा दर्जन भाजपाई इस सीडी में पैसों का लेनदेन करते दिख रहे हैं। दरअसल, पिछले महीने एमएलसी प्रत्याशी वीरेंद्र यादव ने एकाएक भाजपा का दामन छोड़कर सपा का दामन थाम लिया था। इसके बाद से ही भाजपा में हलचल मची हुई है, जिससे भाजपा के बड़े नेताओं की कुर्सी खतरे में आ गई थी। इसका ठीकरा दो कार्यकर्ताओं पर फोड़ा गया, जबकि बताया जा रहा है कि वीरेंद्र यादव से जुड़ी इस डील में प्रदेश स्तर तक के नेता शामिल थे
अपनी मर्जी से नहीं गए वीरेंद्र
सीडी में मेरठ-गाजियाबाद सीट को सपा के हाथों गिरवी रखने की कहानी बताई जा रही है। इसमें करीब छह-सात भाजपाई वीरेंद्र को समझा रहे हैं कि पैसे के लेनदेन के अगले दिन वह सपा में शामिल हो जाए। अगर यह सीडी असली है तो इससे साफ हो रहा है कि वीरेंद्र अपनी मर्जी से नहीं बल्कि भाजपाइयों के कहने पर सपा में वापस लौटे हैं और इसके लिए मोटा लेनदेन किया गया है।
सीडी ने बिगाड़ा खेल
इस सीडी की चर्चा पूरे प्रदेश में हो रही है। एमएलसी चुनावों को लेकर हुए इस घपले में लोकल नेताओं से लेकर प्रदेश स्तर तक के नेता शामिल हैं। करोड़ों के इस खेल को बड़े ही गोपनीय ढंग से अंजाम दिया गया था और इसकी डीलिंग गाजियाबाद में की गई थी लेकिन उन्हीं में से किसी ने इस सीडी को जारी कर सारा खेल बिगाड़ दिया। इस मामले को लेकर भाजयूमों के राष्ट्रीय अधिवेशन में भी चर्चा की गई। फिलहाल इस बारे में कोई भी पदाधिकारी बात करने को तैयार नहीं है सभी ने प्रकरण पर चुप्पी साधी हुई है।
हटाए जा सकते हैं वाजपेयी
हमने इस बारे में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी से बात की तो उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं, भाजपा के वेस्ट यूपी मीडिया प्रभारी आलोक सिसौदिया का कहना है कि मामले में अभी कुछ भी कहना सही नहीं है। जांच के बाद ही सच सामने आ पाएगा। भाजपा सूत्रों के अनुसार, मामले में लक्ष्मीकांत वाजपेयी को जल्द से जल्द प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने की तैयारी भी शुरू हो गई है। एक दो दिन में कभी भी वाजपेयी को पद से हटाया जा सकता है। (jantakiawaz)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें