देश भर में बीफ की अफवाहों को लेकर हो रही मुस्लिमों और दलितों की हत्या के मामलें में महाराष्ट्र पुलिस ने सख्त रुख अपना लिया है. महाराष्ट्र पुलिस जल्द ही मीट डिटेक्शन किट मिलने जा रहा है जिससे पुलिस मजह आधे घंटे के अंदर ही मीट की जांच कर पता लगा लेगी कि यह सैम्पल बीफ का है या मीट का.

ये किट साइज में बहुत ही छोटी होगी. इस किट का इस्तेमाल घटनास्थल पर ही किया जा सकेगा. एक सिंगल किट 100 सैंपलों की जांच कर सकती है. एक किट की कीमत 8 हजार रुपये होगी. पुलिस ने अभी 45 किटों के ऑर्डर दिए हैं. ऐसे में अब 100 पुलिस अफसरों को इस किट का इस्तेमाल करने की ट्रेनिंग दी जाएगी.

इससे पहले महाराष्ट्र पुलिस ने सभी जिलों के पुलिस थानों और चौकियों के लिए आदेश जारी कर कहा था कि यह सुनिश्चित किया जाए कि गौरक्षक कानून अपने हाथ में ना लें.

प्रदेश पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बिपिन बिहारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, हमने महाराष्ट्र की सभी पुलिस इकाइयों के लिए निर्देश जारी किए हैं कि वे गोमांस से जुड़े मामलों में गौ रक्षकों को हस्तक्षेप ना करने दें. उन्होंने कहा, पुलिस अधिकारियों से इस तरह की किसी भी घटना को रोकने के लिए सतर्क रहने को कहा गया है.

उन्होंने कहा, पुलिस अधिकारियों से इस तरह की किसी भी घटना को रोकने के लिए सतर्क रहने को कहा गया है. अधिकारी ने कहा, अगर तथाकथित गौरक्षकों के पास कोई जानकारी हो तो वे पुलिस को बताएं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE