minhaz-ansari_650x400_71476263753

झारखण्ड के जामताड़ा ज़िले में वॉट्सएप पर कथित भड़काऊ पोस्ट को लेकर गिरफ्तार किये गए मुस्लिम युवक की पुलिस कस्टडी में हुई मौत का खुलसा हो गया हैं.

रविवार को सामने आई पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार मिनहाज की मौत  पुलिस की पिटाई से हुई थी. रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि उसकी मौत अंदरूनी चोट से हुई. ध्यान रहें कि मिनहाज के परिजनों ने आरोप लगाया था कि हिरासत में रखे जाने के दौरान, पुलिस ने अंसारी को बहुत बुरी तरह से मारा पीटा, जिसके कारण उसकी मौत हो गई.

पोस्टमार्टम में शरीर के कई हिस्सों में अंदरुनी चोट का खुलासा हुआ है लेकिन ऐसा कुछ नहीं मिला जिससे ये पुष्टि हो की उसकी मौत इंस्फ्लाइटिसर से हुई हो

इस मामलें में मिनहाज अंसारी के घर वालों ने नारायणपुर के थाना प्रभारी के ख़िलाफ़ मुक़दमा भी दर्ज कराया था. जिसके बाद पुलिस ने दावा किया था कि मिनहाज को इंसइंस्फ्लाइटिस था. जिसके कारण उसकी तबियत बिगड़ने से मौत हो गई. हालांकि अब रिपोर्ट सामने आने के बाद पुलिस के झूठे दावों की पोल खुल गई.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें