monkey

बंदरों की बढ़ती जनसंख्या से परेशान उतराखंड सरकार ने बंदरों की जनसंख्या को रोकने के लिए अब सरकार ने नई योजना तैयार की है. जिसके तहत अब बंदरों की आबादी को नियंत्रित करने के लिए उन्हें गर्भनिरोधक दवाएं खिलाई जाएंगी.

उत्तराखंड वन विभाग और भारतीय वन्यजीव संस्थान ने मिलकर ये योजना तैयार की है. आने वाले कुछ महीनों में इस योजना को लागू कर दिया जाएगा. देश में अपनी तरह का यह पहला प्रोजेक्ट होगा जिस पर उत्तराखंड वन विभाग और भारतीय वन्यजीव संस्थान मिलकर काम कर रहे हैं.

उत्तराखंड वन विभाग के लिए उप वन सरंक्षक आकाश वर्मा ने, जिन्होंने ये प्रोजेक्ट तैयार किया है, इसके ट्रायल के लिए देहरादून स्थित वन्यजीव संस्थान जो शहर और जंगल की सीमा पर है और जहां बंदरों के एक गुट विशेष का निवास है, के साथ ही हरिद्वार के चिड़ियापुर में वानर बंध्याकरण और पुनर्वास केंद्र जैसी जगहों पर विचार किया जा रहा है.

न्यविभाग का मानना है कि ये तरीका बेहद सुरक्षित है, क्योंकि इसमें ना तो बंदरों को कैद करने की जरूरत है और ना ही उनकी किसी सर्जरी करने की. हालांकि दवाई किस मात्रा में दी जाएगी, इसे लेकर अभी शोध किया जा रहा है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE