जींद। लुदाना गांव के एक किसान के खेत में आजकल किसानों का तांता लगा हुआ है। कारण यह है कि किसान ने फसल तो आलू की बोई थी लेकिन आलू के ऊपरी हिस्से पर टमाटर भी लग गए। इस फसल को देखने के लिए आसपास से किसानों का तांता लग रहा है। खास बात यह है कि टमाटर नुमा फल का अभी रंग हरा है। खाने में खटास भी है। इसका प्रयोग सब्जी में भी किया गया। यानि आलू तथा टमाटर एक ही पौधे पर लग रही है। आलू के पौधे पर टमाटर नुमा फल लगने से हर कोई हैरान है।

phpThumb_generated_thumbnail (2)

किसान रणबीर ने अनूठे आलू बीज की बिजाई इतफाकिया की थी। उसने बताया कि लगभग 6 माह पहले सडक़ पर आलू की बोरी गिरी हुई मिली थी। अच्छे मोटे साइज के आलूओं की उसने सब्जी बना ली। छोटे आलू की उसने आधा कनाल खेत में बिजाई कर दी। जब आलू के पौधे ने अपनी ग्रोथ ली तो उस पर फूल निकलने शुरू हो गए। लगभग एक पखवाड़ा से फूल ने टमाटर आकार के फल का रूप ले लिया और साइज भी टमाटर जैसा है। जब हरे रंग के टमाटर नुमा फल को तोड़कर चखा गया तो उसमें खटास थी।

नीचे आलूओं का गुच्छा, ऊपर टमाटर

रणबीर के खेत में आलू के पौधे के नीचे जमीन में आलूओं के गुच्छे हैं तो पौधे के ऊपरी हिस्से पर टमाटर के भी गुच्छे लगे हुए हैं। जिनकी संख्या चार से छह तक है। हालांकि अभी तक आलू की फसल पककर तैयार नहीं हुई है। आलू के पौधे के ऊपरी हिस्से पर लगे टमाटर भी हरे रंग के हैं और कच्चे दिखाई दे रहे हैं। अब किसान रणबीर की कोशिश जमीन में दबे हुए आलू तथा उसके ऊपर लगे टमाटर को सहजने की है। रणबीर को अब इंतजार है कि निर्धारित समयाविधि के बाद फल टमाटर की तरफ पककर लाल होगा या उसका रंग हरा ही रहेगा।

क्या कहते हैं पड़ोसी किसान

गांव लुदाना निवासी किसान दीपक ने बताया कि जब रणबीर के खेत में आलू के पौधे पर टमाटर लगने के बारे में पता चला तो शुरू में विश्वास नहीं हुआ। जब उन्होंने खेत में जाकर देखा तो पौधे के नीचे आलू का गुच्छा और ऊपरी हिस्से में टमाटर नुमा फल का गुच्छा लगा हुआ था।

साभार http://www.patrika.com/


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें