तिरुवनंतपुरम। उस परिवार की खुशी का अंदाजा लगाया जा सकता है जिसने अपने जवान बेटे का अंतिम संस्कार किया हो और थोड़ी ही देर बार उस बेटे का फोन आ जाए और कहे कि वह जीवित है। कुछ ऐसा ही हुआ केरल में पुतिंगल मंदिर में हुए हादसे के बाद एक परिवार के साथ।

Kerala Temple

एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार इस हादसे में एक शख्स प्रमोद की मौत की खबर जैसे ही उसके घर पहुंची उसके परिजन उसका शव अस्पताल से घर लाए। मृत बेटे का अंतिम संस्कार कर जब ये परिवार घर लौटा तो अचानक फोन बजा और फोन सुनते ही पूरा परिवार खुशी से झूम उठा।

दरअसल ये फोन उनके बेटे प्रमोद का था। फोन से खुलासा हुआ कि जिसका वह अंतिम संस्कार कर लौटे थे वो कोई और था और उनका बेटा जिंदा है। हादसे में घायल प्रमोद अस्पताल में बेहोश पड़ा था, जब उसे होश आया तो उसने घर पर फोन किया।

गौरतलब है कि रविवार रात पुतिंगल मंदिर में छोड़े गए पटाखों के कारण वहां आग लग गई थी। इस अग्निकांड के कारण 111 लोगों की मौत हो गई और बड़ी संख्या में लोग घायल हो गए थे। आग की चपेट में आने से प्रमोद का शरीर झुलस गया है। (patrika.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Related Posts

loading...
Facebook Comment
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें