श्योपुर में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक महिला मौत के बाद फिर जिंदा हो उठी. अर्थी से उठने के बाद उसने परिवार के साथ चाय नाश्ता किया और फिर हमेशा के लिए चल बसी.

ये पूरा मामला जिले के कुम्हार मोहल्ले का है, जहां 95 साल की महिला की मौत के बाद एक बार सांसें लौट आईं. दरअसल 95 वर्षीय हीराबाई प्रजापति को जगाने के लिए बुधवार सुबह जब परिजन गए तो वो मृत मिली. उनकी मौत की खबर पर सभी गमगीन हो गए.

मौत के बाद वापस लौटी धड़कन, अर्थी से उठ परिवार के साथ किया नाश्ता और फिर चल बसी

मृत्यु की खबर सभी परिजनों को भी दे दी गई. सुबह सात बजे हुई इस घटना के बाद हीराबाई के अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी गई. उनके पार्थिव शरीर को अर्थी पर रख दिया गया, इसी बीच अचानक मृत शरीर में हरकत हुई और उसकी सांसे चलने लगी. देखते ही देखते महिला की आंखें खुली और वो अर्थी पर उठ कर बैठ गई.

ये सब देख कुछ लोग हैरान रह गए तो कुछ डर गए. जब हीराबाई ने अपने हाथ हिलाए तब सभी को उनके जिंदा होने का यकीन हुआ. जिसके बाद विलाप करते परिजनों में खुशी फैल गई.

इसके बाद बकायदा नाश्ता बनाया गया और उसे हीराबाई को दिया गया. उनके साथ उनके बच्चों और पोते-पोतियों ने भी नाश्ता किया. नाश्ता करने के बाद अचानक उनकी तबीयत फिर बिगड़ी और जिंदा होने के ढाई घंटे बाद एक बार फिर उनकी सांसें थम गईं.

परिजनों को लगा कि हीराबाई एक बार फिर जी उठेंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जिसके बाद उनका दोपहर को अंतिम संस्कार किया गया.

परिजनों की मानें तो हीराबाई ने पिछले 15 दिन से कुछ भी नहीं खाया था, जिससे वो काफी कमजोर हो गई थी. परिजन उन्हें दूध आदि जबरदस्ती पिलाया करते थे. मृत्यु के बाद जिंदा होने पर ये 15 दिन बाद था जब हीराबाई ने कुछ खाया था, जिसके बाद वो दुनिया छोड़ गईं. वो बोल-सुन नहीं सकती थी इसलिए मृत्यु के बाद जिंदा होने पर वो किसी को कुछ बता भी नहीं पाईं. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें