मुंबई राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित फिल्मकार हंसल मेहता का कहना है कि वह उस समय भौंचक्के रह गए जब सेंसर बोर्ड ने उनके आने वाली फिल्म ‘अलीगढ़’ में कुछ कट लगाने को कहा। इस फिल्म में मनोज वाजपेयी और राजकुमार राव की मुख्य भूमिकाएं हैं। यह फिल्म अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर श्रीनिवास रामचंद्र सीरस के जीवन से जुड़ी सत्य घटना पर आधारित हैं जिन्हें उनकी कथित यौन प्रवृत्ति के कारण नौकरी से निकाल दिया गया था।

aligarh

सेंसर बोर्ड ने ‘अलीगढ़’ के ट्रेलर को वयस्क श्रेणी का प्रमाणपत्र दिया है। इसे लेकर मेहता काफी नाराज हैं। फिल्म के कलाकार वाजपेयी ने भी इस बात पर हैरानी जताई है। यह फिल्म 26 फरवरी को रिलीज हो रही है। इससे पहले फिल्मकार करण जौहर ने फिल्म ‘अलीगढ़’ की तारीफ करते हुए कहा है कि यह आज के समय की एक प्रासंगिक और महत्वपूर्ण फिल्म है। जौहर ने फिल्म की स्क्रीनिंग में शिरकत करने के बाद ट्वीट किया कि अलीगढ़ असाधारण मार्मिक..प्रासंगिक और अपने समय की एक महत्वपूर्ण फिल्म है।

साभार http://khabar.ibnlive.com/


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE