लंदन। जहरीले और खतरनाक सांपों को देखते ही डर लगने लगता है। लेकिन एक व्यक्ति ने दूसरे लोगों की जान बचाने के लिए खुद को करीब 160 बार खतरनाक जहरीले सांपों से कटवा लिया।

snake

दरअसल यह व्यक्ति एक वैज्ञानिक है और ये जहरीले सांपों के जहर का ह्यूमन एंटीडॉट बनाने में लगे हैं। इस वैज्ञानिक का नाम है टिम फ्रीडे। बारक्राफ्ट मीडिया से एक साक्षात्कार में टिम फ्रीडे ने बताया कि प्रति वर्ष करीब एक लाख लोग जहरीले सांपों के डसने से मर जाते हैं। टिम का कहना है कि जब तक वे इसका वैक्सीन तैयार नहीं कर लेते तब तक वे चैन से नहीं बैठेगें। एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार टिम अपने अभियान के तहत कई बार मौत के मुंह में जाते जाते बचे हैं। हाल ही में टिम को दो घातक ताइपान और ब्लैक माम्बा सांपों ने काटा।

snake01

टिम को वर्ष 2011 में लगातार दारे बार कोबरा सांप ने काटा था जिससे वे कोमा में चले गए थे। इस घटना में टिम मरते मरते बचे थे। टिम का कहना है कि ऎसी ऎसी स्थिति से गुजरने के बाद अब वे वहां पहुंचने वाले हैं जहां सांपों के काटने की समस्या पर काबू पा लेंगे। टिम का कहना है कि उन्होनें ये सब इसलिए शुरू किया क्योंकि वे खुद के लिए प्रतिरक्षक तैयार करना चाहते थे। लेकिन जब टिम ने इसके नतीजों को देखा तो उन्होनें सोचा कि इससे पूरी मानव जाति को लाभ पहुंचाया जा सकता है। टिम का कहना है कि जब उनकी वैक्सीन पूरी विकसित हो जाएगी तो इस समस्या से पार पाया जा सकेगा।

साभार http://www.khaskhabar.com/


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें